Search

पद परिचय : अभ्यास कार्य

सेट-1


निम्नलिखित वाक्यों के रेखांकित अंश का पद परिचय दीजिए :-

  1. मैं सफ़ेद कपड़े पहनता हूँ l

  2. सरोवर में कमल पुष्प खिल रहे हैं l

  3. वह पत्र लिख रहा है l

  4. अध्यापिका हिंदी पढ़ा रही हैं l

  5. पशु नदी में नहा रहे हैं l

  6. ऑनलाइन कक्षा में कुछ तो पढ़ोगे l

  7. वे लोग दिल्ली जाएँगे l

  8. तान्या हँस रही है l

  9. ईमानदारी अनमोल गुण है l

  10. आपकी पुस्तकें कहाँ हैं ?

अपने उत्तर की जाँच करें :-

  1. पहनता हूँ- सकर्मक क्रिया, कर्तृवाच्य, पुल्लिंग, एकवचन, अन्य पुरुष, कर्ता- मैं l

  2. सरोवर में- संज्ञा, जातिवाचक, पुल्लिंग, एकवचन, अधिकरण कारक l

  3. पत्र- जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ता कारक, 'लिख रहा है' क्रिया का कर्ता l

  4. पढ़ा रही हैं- सकर्मक क्रिया, एकवचन, वर्तमान काल, स्त्रीलिंग, 'अध्यापिका' कर्ता की क्रिया l

  5. नदी में - जातिवाचक संज्ञा, एकवचन, स्त्रीलिंग, अधिकरण कारक l

  6. कुछ- अनिश्चयवाचक सर्वनाम, पुल्लिंग, एकवचन l

  7. वे- सार्वनामिक विशेषण, बहुवचन, पुल्लिंग, विशेष्य 'लोग', 'जाएँगे' क्रिया का कर्ता l

  8. हँस रही है - अकर्मक क्रिया, एकवचन,वर्तमान काल, कर्ता 'अनामिका' की क्रिया l

  9. ईमानदार- भाववाचक संज्ञा, एकवचन, स्त्रीलिंग l

  10. पुस्तकें- जातिवाचक संज्ञा, बहुवचन, स्त्रीलिंग, कर्म कारक l

*****


सेट-2


निम्नलिखित वाक्यों के रेखांकित अंश का पद परिचय दीजिए :-

  1. महकता गुलाब मनोहारी होता है l

  2. मैंने एक बच्चे को देखा l

  3. मोहन ने उड़ता हुआ विमान देखा l

  4. मुझे बार-बार घर की याद आ रही है l

  5. मुझे एक कलम चाहिए l

  6. अरे! कितना प्यारा बच्चा है l

  7. मजदूर अथक परिश्रम कर रहा है l

  8. वह बाजार जा रहा है l

  9. तमिल बहुत प्राचीन भाषा है l

  10. राँची झारखण्ड की राजधानी है l

अपने उत्तर की जाँच करें :-

  1. गुलाब- जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन, विशेष्य l

  2. मैंने- पुरुषवाचक, पुल्लिंग, एकवचन, उत्तम पुरुष, कर्ता कारक l

  3. विमान- जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन, कर्म कारक l

  4. घर की याद- जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन, सम्बन्ध कारक l

  5. एक- संख्यावाचक विशेषण, एकवचन, स्त्रीलिंग, विशेष्य- कलम l

  6. अरे!- विस्मयादिबोधक अव्यय l

  7. कर रहा है- सकर्मक क्रिया, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ता- मजदूर l

  8. वह- जातिवाचक संज्ञा, पुल्लिंग, एकवचन, कर्म कारक l

  9. प्राचीन- गुणवाचक विशेषण, एकवचन, विशेष्य-भाषा l

  10. राँची- व्यक्तिवाचक संज्ञा, स्त्रीलिंग, एकवचन l

298 views0 comments

Recent Posts

See All

श्रुतिसम भिन्नार्थक शब्द

‘श्रुतिसम’ का अर्थ है ‘सुनने में एक समान’ और ‘भिन्नार्थक’ का अर्थ है ‘अर्थ में भिन्नता’ । अतः वे शब्द जो पढने और सुनने में एक समान प्रतीत होते हैं, परन्तु उनके अर्थो में भिन्नता होती है, उन्हें श्रुति